बिहार

बिहार के 120 टीचर ट्रेनिंग कॉलेजों में इस सत्र से दाखिला, बिहार बोर्ड से मिली मंजूरी

राज्य में 120 टीचर ट्रेनिंग (डीएलएड) कॉलेजों में दाखिले की मंजूरी मिल गई है। शुक्रवार को हुई बिहार बोर्ड शासी निकाय की बैठक में इस पर मुहर लगी है। पिछले दो साल से यहां दाखिल की प्रक्रिया रुकी थी।

सत्र 2017-19 से ही इन कॉलेजों में दाखिला शुरू हो जाएगा। इतने कॉलेजों में 8 से 12 हजार छात्रों का दाखिला होगा। बोर्ड के शासी निकाय में 115 डीएलएड कॉलेजों में दाखिले के लिए मंजूरी प्रदान की गयी। वहीं, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पांच अन्य टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों को मान्यता दी गयी। इन कॉलेजों की ओर से सत्र 2017-18 के लिए दाखिला पहले ही ले लिया गया था। पर मामला कोर्ट में चले जाने के बाद कोर्ट से मंजूरी के बाद मान्यता मिली।

जिन कॉलेजों को मान्यता मिली है, उनका स्थल निरीक्षण दो साल पहले दो बार किया जा चुका था। पर बोर्ड की ओर से मंजूरी प्रदान नहीं की जा रही थी। सुप्रीम कोर्ट से आदेश प्राप्त होने के बाद बोर्ड की ओर से शासी निकाय की बैठक कर इन कॉलेजों को मंजूरी दे दी गयी है। इन कॉलेजों में 2016 के रेगुलेशन के हिसाब से दाखिला लिया जाएगा। बोर्ड की ओर से पहली बार डीएलएड कोर्स के लिए रेगुलेशन बनाया गया है। इसके पहले बिना रेगुलेशन के कोर्स चलाए जा रहे थे।

सत्र 2015-17 की वार्षिक परीक्षाएं 44 डीएलएड कॉलेजों की रुकी
डीएलएड कोर्स में पिछले दो सत्र की वार्षिक परीक्षा नहीं हो सकी है। सत्र 2014-16 और सत्र 2015-17 की वार्षिक परीक्षाएं रुकी हैं। इसमें 44 कॉलेजों का मामला फंसा हुआ है। इनमें 34 सरकारी और 10 निजी ट्रेनिंग कॉलेज हैं। इसका मामला भी कोर्ट में है।

पांच कॉलेजों की मान्यता हुई रद्द
बिहार बोर्ड ने शासी निकाय की बैठक में पांच कॉलेजों की मान्यता को रद्द कर दिया है। इसमें दो वैशाली के कॉलेज हैं। राम विदेश सिंह महाविद्यालय धनुषी, वैशाली और संजय सिंह प्लस टू उच्च माध्यमिक विद्यालय अदजपुर दिघीकला हाजीपुर वैशाली की मान्यता रद्द की गयी है। इसके अलावा डिग्री भगत उच्च माध्यमिक विद्यालय गोपालगंज, जगन्नाथ बाबू बाल्मिकी सिंह इंटर कॉलेज, थावे गोपालगंज और आईिडयल हायर सेकेंड्री पब्लिक स्कूल, डेल्हा गया की मान्यता रद्द की गयी है।

दो कॉलेजों की मान्यता निलंबित
बोर्ड की ओर से दो कॉलेजों की मान्यता निलंबित की गई है। इन कॉलेजों को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। इसके बाद सही जवाब नहीं मिलने पर मान्यता रद्द की जाएगी। इनमें बीपीएम इंटरनेशनल उच्च माध्यमिक विद्यालय शाहपुर, सिरदला, नवादा और बह्रदेव सिंह सुमित्रा महाविद्यालय, बाली, वारिसलीगंज नवादा की मान्यता को निलंबित किया गया है।

क्या कहते हैं बोर्ड अध्यक्ष
बिहार बोर्ड ने शासी निकाय की बैठक में 120 टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए मंजूरी प्रदान की है। इन कॉलेजों में इसी सत्र में दाखिले की मंजूरी दी गयी है। कुछ कॉलेजों की मान्यता भी रद्द की गयी है। दो सत्रों की परीक्षा रुकी है, जिसका मामला कोर्ट में है। आदेश प्राप्त होते ही परीक्षा होगी।
– आनंद किशोर, अध्यक्ष, बिहार बोर्ड

 

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.