बिहार

बेनामी संपत्ति : सीबीआई ने लालू और तेजस्वी यादव

नई दिल्ली: बेनामी संपत्ति के मामले में सीबीआई आरजेडी सुप्रीम लालू प्रसाद यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव को पूछताछ के लिए तारीख पर तारीख दे रही है. अबकी बार लालू प्रसाद यादव को 5 और तेजस्वी को 6 अक्टूबर का समय दिया गया है. इससे पहले चार और पांच अक्टूबर को सीबीआई ने दोनों को तारीख दी थी. लेकिन दोनों ने पेश होने में असमर्थता जताई थी. इन तारीखों के अलावा भी दो बार पहले भी दोनों को पेश होने के लिए कहा जा चुका है लेकिन अलग-अलग वजहें बताकर पिता-पुत्र हाजिर नहीं हुए थे. तब सीबीआई के अधिकरी ने कहा था कि ऐसा लगता है लालू प्रसाद यादव मामले में देर करना चाहते हैं.

आईआरसीटीसी के दो होटलों की देखरेख का जिम्मा 2006 में निजी फर्म को सौंपे जाने के संबंध में सीबीआई पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव से पूछताछ करना चाहती है. इस सौदे में हुए कथित भ्रष्टाचार के संबंध में दर्ज सीबीआई की प्राथमिकी में तेजस्वी को भी आरोपी बनाया गया है.

आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू ने बीएनआर रांची और बीएनआर पुरी की देखरेख का जिम्मा एक निजी फर्म सुजाता होटल को सौंपा और बदले में एक बेनामी कंपनी के जरिए तीन एकड़ की महंगी जमीन के रूप में दलाली ली. सुजाता होटल का स्वामित्व विनय और विजय कोचर के पास है.

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.