बिहार

CM नीतीश ने क्यों कहा- हम नहीं चाहते बिहार में मध्यावधि चुनाव?

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने के पक्ष में हैं, इससे खर्च में कमी आएगी। उन्होंने कहा कि पंचायती राज और लोकल बॉडीज का चुनाव भी साथ होना चाहिए। सैद्धानिक रूप से अगर चुनाव एक साथ हों तो ये एक बार फिर से अच्छी शुरूआत होगी।

नीतीश ने 2019 में विधानसभा की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि एेसा नहीं है बिहार में विधानसभा चुनाव अपने तय शेड्यूल में ही होंगे, मध्यावधि चुनाव की बात गलत है। उन्होंने कहा कि जनता ने जिसे चुना हो उसे काम करने का वक्त तो मिलना ही चाहिए। बार-बार चुनाव कराना सही नहीं।

पद धन इकट्ठा करने के लिए नहीं मिलता

उन्होंने बिना नाम लिए लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी कोे भी पद धन इकट्ठा करने के लिए नहीं मिलता बल्कि काम करने के लिए मिलता है। भ्रष्टाचार और गलत तरीके से इकट्ठा किया गया धन किसी के काम नहीं आता। जो गलत करेगा वो कभी ना कभी पकड़ा जाएगा। पाप कभी छुपता नहीं है।

कांग्रेस ने की वंशवाद की शुरूआत

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ही वंशवाद की शुरूआत की थी और मैं तो हमेशा से ही परिवारवाद और वंशवाद के खिलाफ रहा हूं। राजनीति में परिवार वाद वंशवाद की वजह से जनता को नुकसान होता है। उन्होंने कहा कि यह परंपरा अब खत्म होनी चाहिए। परिवार वाद के खिलाफ उन्होंने कहा कि बिना परिवार वाले लोगों ने भी राजनीति में बड़ा मुकाम हासिल किया है।

पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में रखना जरूरी नहीं

नीतीश ने कहा कि जीएसटी का हमने समर्थन किया था और यह आम जनता के लिए फायदेमंद है लेकिन हां मैं ये कहूंगा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर ध्यान देना जरूरी है, पेट्रोल -डीजल जीएसटी के दायरे में रहे यह जरूरी नहीं। आम लोगों की सुविधा का खास ध्यान रखना चाहिए। मुख्यमंत्री आज पटना में लोक संवाद कार्यक्रम के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रहे थे।

रेलवे का विद्युतीकरण हो रहा है

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को बोनस दिया, राज्य में किसानों की हर परेशानी को दूर करने के उपाय किये जाएंगे।राज्य में हुए नुकसान की भरपाई होनी चाहिए। रेलवे का विद्युतीकरण हो रहा है लेकिन इतनी जल्दी पूर्ण विद्युतीकरण संभव नहीं है।

सृजन घोटाले की चल रही है जांच

नीतीश ने कहा कि सृजन घोटाले की जांच चल रही है और सीबीआइ की बिहार पुलिस हरसंभव मदद कर रही है। जांच के काम में सरकार कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकती। जो भी सच्चाई होगी वो सामने आ ही जाएगी, इंतजार कीजिए। जांच पर सवाल नहीं उठाना चाहिए, क्योंकि देश की प्रमुख जांच एजेंसी इसकी जांच कर रही है और सारे सुबूत और जानकारियां बिहार पुलिस ने उपलब्ध करा दी हैं।

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.